शायरी - जिंदगी तुझ से, और क्या मांगेंगे हम


शायरी -  जिंदगी तुझ से, और क्या मांगेंगे हम




______________________________________***________________________________

कौन जानता था की वक्त के साथ इतने पराए हो जायेंगे हम ।
दिल धड़कन जान सब तुम्हे देकर भी तुम्हारे न हो पाएंगे हम ।

हम सफर में चले थे तेरे साथ, लेकिन तू हमसफर न बन सका
खोखले हो गए तेरे साथ, इससे ज्यादा अब कुछ और न दे पाएंगे हम।

जिंदगी का कतरा कतरा बीत रहा तेरे आने के इंतजार में अब,
वो दिन भी जरूर आयेगा जब तू चाहेगा, पर तेरे करीब न आयेंगे हम।

वाजिब है की तुझसे खफा हैं हम, पर तेरे शुक्रगुजार भी हैं,
कुछ ऐसा पा लिया इस दर्द से की अब , इस से ज्यादा और कुछ न चाहेंगे हम।

तेरी बेवफाई ने सिखा दी मुझे सच्ची वफ़ा, जो ऊपरवाले से हो गई, 
अब इस से ज्यादा जिंदगी तुझ से, और क्या मांगेंगे हम।

______________________________________***________________________________

Written By: Mohini M Bajpai
Hindi Shayari/Latest Hindi Shayari/


Comments

Also read popular posts from this blog...

Easy Drawing Ideas for Kids - Part I

Easy Drawing Ideas for Kids - Part II

Importance of Art&Creativity for Kids

Easy Drawing Fruits and Veggies for Kids - Basic

Importance of Observation for Art and Creativity

Finally I met Myself !

Art, Nature, and We...! Introducing "Nature and She"...

15 Best and Honest Ideas to Promote Your Child's Creativity !

"Paintings by Mohini"

Easy DIY Rangoli Design - Diwali Especial